SEO क्या है और किसी Website का SEO कैसे करे

SEO क्या है और किसी Blog and Website का SEO कैसे करे? (What is SEO and how to do SEO of website or blog) आइए सबसे पहले जानते है कि SEO(Search Engine Optimization) क्या है?

SEO का पूरा नाम Search Engine Optimization है। SEO एक ऐसा माध्यम है जिससे आप आसानी से अपने BLOG या फिर अपने वेबसाइट को GOOGLE पर top rank यानी first position पर ला सकते है. जिससे आपकी साइट पर अच्छा TRAFFIC आएंगा और आप बहुत सारा पैसा भी Earn कर सकते है Google adsense के माधयम से, SERP (Search Engine Result Page ) मे top 5 position पर आने के लिये जो भी प्रक्रीया करते है उसे SEO कहते है.

For example: Suppose मैने एक blog website बनायी और उसमे अच्छे quality content भी publish कर दिए लेकिन उसका SEO नही किया तो आपको क्या लगता है मेरा blog कभी search engine मे top position पर आ पाएंगा. No Never कभी नही आ पाएंगा और money के साथ साथ time भी बर्बाद हो जायेंगा.

क्योंकि जब कोइ भी user, search engine में keyword search करेंगा, और मेरे website मे उस keyword से related content होने के बावजूद भी user हमारे website को access नही कर पाएंगा क्योंकि search engine का crawler हमारे site का पता नही लगा पायेगा और ना ही हमारे website के content या data को index कर पायेगा, जिससे website पर traffic या visitors आना एक सपने कि तरह होगा.

इसलिए वेबसाइट या ब्लॉग बनाने से पहले search engine optimization करना सीखे जिससे आप भी Google या किसी और search engine मे top 5 position मे आ सके और आप भी और लोगो कि तरह famous हो सके. मेरा वादा है, यह पूरा आर्टिकल पढ़ने के बाद आप भी बहुत आसानी से अपने blog या website का SEO कर पाएंगे.

SEO के बारे मे कुछ important बाते

  • किसी भी search engine result page (SERP) मे  दो तरह के result show होते है.a) Unpaid result b) Paid result.
  • Unpaid result मे top position पर आने के लिए SEO करना बेहद जरुरी है.
  • Paid result मे Google के search engine मे top position पर आने के लिये Google Ads के through आ सकते है. जिसके लिये अपने budget के हिसाब से Google को payment करना पड़ता है और कुछ strategy को follow करना पड़ता है.अधिकतर business man लोग ही अपने product और services को promote करने के लिये Goggle Ads का use करते है ताकि वो जल्दी से search engine मे top position पर आ सके.
  • Suppose अगर दो website एक ही प्रकार का product बेच रही है, तब जिस website का Fully SEO Optimized होता है, उस website पर traffic बढ़ जाता है और sales भी अधिक होती है.वही दूसरी website पर ना के बराबर traffic आता है.
  • Website पर traffic बढ़ाने के लिये site को Fully optimized करना ज़रूरी है.

SEO के प्रकार ( Types of SEO )

3 प्रकार के SEO होते है

  1. On-Page SEO
  2. Off- Page SEO
  3. Technical SEO

1- On-Page SEO

अपने website या blog को SEO friendly बनाना और mobile responsive बनाना बहुत जरुरी है जिससे आपकी website मोबाइल पर अच्छे से open हो सके क्योंकि पूरे दूनिया मे  90% लोग इन्टरनेट अपने mobile से ही चलाते है.

आप अपने website में  ऐसी template और theme use करे जो website खुलने मे कम समय ले, Simple theme का प्रयोग करे तो बेहतर होगा.

Quality Content ही लिखे duplicate content बिल्कुल ना लिखे, content को publish करने से पहले Plagiarism Checker से अपना content check कर ले अगर unique है तभी publish करे नही तो आपकी website की रैंकिंग low हो सकती है, और जिसका भी content चूराया है अगर उसे पता चल गया तो वो complain भी कर सकता है जिससे आपकी website suspend भी हो सकती है और penalty भी लग सकती है.

Content लिखने से पहले keyword research कर ले जिस topic पर आपको content लिखना है. Title, Meta description, Meta Keyword, H1(heading 1),H2,H3 और content मे keyword जरुर लिखे जिससे Google के crawler को पता चल सके आपका content किस topic पर है. इससे आपके website पर traffic increase होगा और आपकी website का top position पर आने कि उम्मीद अधिक हो जायेंगी .

On Page SEO कैसे करे

कुछ ऐसी techniques के बारे मे जानते है जिसकी मदद से आप अपने blog या website का On Page SEO बहुत ही असानी से कर सकेंगे.

1 . AMP

अपने website या blog को Accelerated Mobile Pages (AMP) मोबाइल के अनुकूल बनाये क्यूंकि करीब 90% लोग इन्टरनेट mobile पर ही चलाते है. अगर आपने wordpress या फिर किसी और कि hosting ले रखी है तो उसमे AMP plugin जरुर install करें.

2 . Website Loading Time

Website Loading time SEO कि दृष्टी से बहुत ही ज़रूरी है क्यूंकि एक survey से पता चला है की कोई भी visitor 5 से 7 seconds ही किसी website या blog को खुलने का इन्तजार करता है . अगर 5 से 7 seconds मे नही खुलती है तो visitor दूसरी site पर access कर लेता है. जिसके कारण आपकी site पर traffic कम हो सकता.

अगर आपने इस पर ध्यान नही दिया तो इससे आपकी website या blog कि SERP में position बहुत नीचे हो जायेंगी.

कुछ महत्वपूर्ण Tips जिससे आपकी website या blog का loading time कम हो सकता है.

  • Images,videos के size को compress करके ही upload करे जितना size कम होगा उतना ही अच्छा रहेंगा लेकिन quality को ध्यान में रखते हूए.
  • SEO Optimized theme का ही इस्तेमाल करें.
  • Plugins का कम से कम इस्तेमाल करे

3 . Title Tag

Title Tag की character limit 60 words है .Google या कोई भी search engine 55 से 60 characters ही display करता है अगर आप इसको follow करते है तो आपके site का Click Through Rate (CTR )भी बढ़ेगा और visitors को भी आसानी होगी पहचानने मे कि आपका page किस सम्बंधित है.

Important Tips for Writing a Title Tags :

  • Title ऐसा लिखे जो unique हो और उसमे keyword भी शामिल हो.
  • Length को ध्यान में रख कर ही लिखे.
  • Title ऐसा होना चाहिए जो आपके page को describe करता हो की किस related page है.

4 . Meta descriptions:

Meta descriptionभी ऐसा लिखे जो आपके content को describe करता हो . जब आप search engine पर कुछ भी search करते है उसके बाद जो result आता है उसमे सबसे पहले title उसके बाद url और फिर description दिखायी देता . Meta descriptions को 160 characters से अधिक न लिखे.

5 . Heading (h1 to h6 ):

Headings का इस्तमाल content के लिये करते है. लेकिन याद रखे headings ऐसी लिखे जिससे keyword stuffing बिल्कुल न लगे,और heading को Paragraph से संबंधित ही लिखे .अगर आप अपने content को छोटे छोटे भागो में विभाजित करना चाहते है तो कर सकते है.लेकिन इसके लिये आप subheadings (H2 से H6 ) का use जरुर करे.

6 . Alt text :

Alternative text को images के लिये प्रयोग करते है जिससे google के robots को अधिक जानकारी प्राप्त होती है और site को रैंक करने मे मदद भी मिलती है. यह इसलिए भी ज़रूरी है क्योंकि किसी भी search engine के robots, images को तब तक read नही कर पाते जब तक image में Alt tag क use न किया गया हो.

Images का seo करते समय इन बातो पर ध्यान जरुर दे :-

  • Image के file name को topic (keyword ) से related नाम दे.
  • File size को compress करके ही upload करे और size को कम रखे.
  • Alt text
  • Image caption and title
  • Image sitemap

7 . Internal linking :

Internal linking करना Google bot और visitors के point of view से बहुत ही अच्छा होता है. एक page से visitors को दुसरे page पर भेजने कि यह बहुत ही अच्छी तकनीक है. इससे visitors आपके site पर काफी समय व्यतीत कर सकता है.

8 . Keywords research:

कोइ भी content लिखने से पहले keywords research जरुर करे और फिर अपने content से related keyword निकाले. उन्ही keyword को use करे जिस पर competition कम हो क्योंकि high competition keyword को रैंक कराने मे दिक्कत हो सकती है .

कुछ free tools

  • Keyword Planner
  • Keyword Everywhere

9 . Responsive website:

यह seo का सबसे अहम हिस्सा है . अगर आपकी website responsive नही है तो किसी भी device पर page सही तरीके से नही खुलेगा , जिससे आपके website का bounce rate बढ़ जायेंगा और इससे website कि ranking भी नीचे हो जायेंगी. क्योंकि अधिकतर लोग इन्टरनेट mobile device से ही चलाते है .

On page seo कैसे करे – कुछ और बिंदु जिस पर ध्यान जरुर दे :-

  • URL structure
  • Page load speed
  • Content
  • User friendly

Off -page seo

Off -page SEO optimization एक ऐसी तकनीक है जिससे हम अपने website को top पर लाने के लिये दूसरे platform पर जाते है जैसे कि submission site पर अपने blog या website केblog और अन्य URL को वह पर submit करते है .

1- Social networking sites

ये एक ऐसा रास्ता है जहां से आप अपने blog को शेयर करके अपने website पर अच्छा traffic ला सकते हो अगर आपका account नही है तो जरुर बनाये.

  • Facebook
  • Instagram
  • Twitter
  • Google+

Account बनाने के बाद रोज नई नई blog share करो जिससे traffic तो बढ़ेगा ही और आपके website को लोग धीरे धीरे जानने भी लगेगे.

2- Search Engine Submission

ये Off – page seo के लिए बेहद जरुरी है आप अपने blog का URL search engine पर submit करे जैसे- google ,yahoo, bing इत्यादि .ऐसा करने से हमारे blog अन्य site के भी data base मे add हो जायेंगे और फिर अगर कोई उस search engine से हमारे blog को search करेंगा तो आपकी site भी search में आ जायेंगी.

अगर आप सोच रहे है कि केवल submit करने से ही आपके site पर visitors आने लगेगे तो ऐसा बिल्नकुल भी नही ही है, उसके लिये आपको quality content लिखने पड़ेंगे.

3- Blog Directory Submission Sites

इसका role थोड़ा कम हो चुका है लेकिन अगर आप अभी भी अपने blog का blog directory submission site पर URL submit करते है तो थोड़ा देर से ही सही लेकिन फायदा जरुर होगा. ये submission sites google में search करके ले सकते है फिर भी मै कुछ blog directory submission sites नीचे दे रहा हूँ .

  • Alltop.com
  • blogtoplist.com
  • blogflux.com

Technical SEO

मै जानता हूँ अब आप यही सोच रहे होंगे कि ये नया SEO Method कहाँ से आ गया लेकिन मै आपको बता दूं की अगर आप भी एक professional blogger बनने कि सोच रहे है तो या फिर आप अपने website को जल्द रैंक कराना चाहते है तो आपको technical seo कि knowledge थोडा बहुत होना जरुरी है.

Technical seo के कुछ महत्वपूर्ण बिंदु :-

  • आपके website या blog पर जो भी फालतू pages है उन्हें remove करे.
  • अगर आपने कुछ duplicate content को use किया है तो हटा दे.
  • Trusted website से ही backlink ले केवल.
  • अपने content को secure बनाये ताकि कोई copy न कर पाए.
  • Website या blog site के loading speed time को जितना हो सके उतना optimized करे. Google’ PageSpeed Insights tool का use जरुर करे.

मैने आपको इस पोस्ट के माध्यम से SEO क्या है – blog और website क SEO कैसे करे के बारे में basic topic को पूरा किया है. उम्मीद करता हूँ कि आपको समझ आ गया होगा फिर भी कोई doubt है तो comment करके पूछ सकते हैं. मै आपके प्रश्न का जवाब जरुर दूंगा.

Categories SEO

2 thoughts on “SEO क्या है और किसी Website का SEO कैसे करे”

Leave a comment

close button
Share via
Copy link
Powered by Social Snap